Ticker

6/recent/ticker-posts

शिक्षा के प्रति अलख जगाने का काम किए नीलांबर बाबू : मंत्री

 


बेनीपट्टी(मधुबनी)। मुख्यालय के डा. एनसी कॉलेज परिसर में पूर्व विधान पार्षद स्व. डा. नीलांबर चौधरी की 87 वीं जयंती मनायी गयी। जिसका उदघाटन सूबे के शिक्षा सह भवन निर्माण मंत्री डा. अशोक चौधरी, एलएनएमयू दरभंगा के कुलपति डा. सुरेंद्र प्रताप सिंह, पूर्व विधान पार्षद डा. दिलीप कुमार चौधरी सहित उपस्थित अन्य अतिथियों ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्जवलित कर किया। मौके पर सभी आगत अतिथियों ने स्व. डा. चौधरी के प्रतिमा पर पुष्प अर्पित कर श्रद्धासुमन भी अर्पित किया। कार्यक्रम की शुरुआत महाविद्यालय की छात्रा श्वेता कुमारी, प्रिया कुमारी, अंजली कुमारी, शिखा कुमारी और स्वाती कुमारी तथा प्रसिद्ध कलाकार गोपाल झा ने गोसाऊनिक गीत गाकर और नृत्य प्रस्तुत कर किया। पूर्व विधान पार्षद, कॉलेज के प्राचार्य सहित अन्य शिक्षकों और कर्मियों द्वारा सभी आगत अतिथियों को पाग दोपटा, माला और मोमेंटो भेंट कर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में मंत्री डा. चौधरी ने कहा कि स्व. डा. नीलांबर बाबू महान शिक्षाविद थे। जब 2000 में मंत्री थे उनके साथ कार्य करने का मौका मिला था। उन्होंने मिथिला में शिक्षा क्षेत्र को विकसित करने के लिए कई अहम कार्य किये। कई महाविद्यालय, उच्च विद्यालय सहित अन्य शिक्षण संस्थानों की स्थापना उनके द्वारा कराया गया। सभी को उनके बताये गये रास्ते पर चलकर विकास की ओर बढ़ना चाहिए। एलएनएमयू दरभंगा के कुलपति डा. सिंह ने कहा कि स्व. चौधरी का शिक्षा व्यवस्था को दुरुस्त करने में काफी महत्वपूर्ण योगदान रहा है। वह मिथिला के विभूति थें। वे ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय को भी आगे बढ़ाने का काम किये। वही पूर्व विधायक रामाशीष यादव ने कहा कि पूर्व विधान पार्षद स्व. चौधरी ने अपनी विलक्षण प्रतिभा के बल पर राज्य के उच्च सदन की सदस्यता प्राप्त कर शिक्षा के क्षेत्र में अतुलनीय योगदान देकर मिथिलांचल की गरिमा बढ़ाने का काम किया। पूर्व विधान पार्षद डा. दिलीप कुमार चौधरी ने कहा कि मिथिलांचल पावन धरती है, यहां आनेवाले सभी लोग निरंतर प्रगति प्राप्त करने में सफलता हासिल किये हैं। पूर्व विधान पार्षद व अपने पिताजी के सपनों को पूरा करने के लिये हम सदैव कृतसंकल्पित हैं, उनका पदचिन्ह ही हमारी विरासत है। कॉलेज के प्राचार्य प्रो. भवानंद झा ने पत्र के जरिये मैथिली में लिखित सम्मान पत्र पढ़कर अतिथियों को सम्मानित किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता डा. दिलीप कुमार चौधरी ने की। कार्यक्रम में एसएचओ महेंद्र कुमार सिंह, एससीएम महिला कॉलेज के प्राचार्य प्रो. कमलेश्वर ठाकुर, प्रो. ब्रह्मकुमार झा, प्रो. राम नारायण झा, शैलेंद्र झा, प्रो. आकिल, विनोद झा, विनय झा, मोहित चौधरी, संतोष प्रो. मीनू पाठक, प्रो. केसी पाठक,  प्रो. महानंद झा, प्रो. मुनेश्वर झा, शशिभूषण  सिंह, विनोद झा, विनय झा, जगदीश कुमार, मृगेन्द्र कुमार मृणाल, प्रो. शिवकुमार, फिरण चौधरी, पूर्व सरपंच पवन झा, कमलेश प्रेमेंद्र, आशुतोष कुमार झा, सुभद्रा कुमारी, मेघा कुमारी, सहित अन्य ने भी अपने विचार प्रकट किये।



Post a Comment

0 Comments