बेनीपट्टी(मधुबनी)। पत्रकार सह आरटीआई कार्यकर्ता बुद्धिनाथ झा उर्फ अविनाश के अपहरण बाद हत्या के खिलाफ बेनीपट्टी के लोहिया चौक व थाने के बीच बनें यात्री शेड में धरने पर बैठे परिजनों ने दो दिनों के धरने के बाद अनिश्चितकालीन अनशन की शुरुआत कर दी है। दो दिवसीय धरने के बाद भी प्रशासनिक कार्रवाई में तेजी नहीं होता देख परिजनों ने यह फैसला लिया है।

अनशन पर दिवगंत बुद्धिनाथ झा उर्फ अविनाश के पिता दयानंद झा, भाई त्रिलोक झा, जिला पार्षद प्रतिनिधि रंधीर झा, सामाजिक कार्यकर्ता आनंद ठाकुर उर्फ लाला जी बैठे हैं।



इधर अविनाश के अपहरण बाद हत्या के 27 दिन बीत जाने के बाद भी परिजनों के सवाल बरकरार है, जिसका जवाब प्रशासन के पास नहीं है।


दूसरी तरफ अनशन के शुरुआत होते हुए बेनीपट्टी पीएचसी प्रभारी डॉ. शंभूनाथ झा के नेतृत्व में चिकित्सक की एक टीम अनशनकारियों के स्वास्थ्य जांच के लिए पहुंची, जहां सभी अनशनकारियों की रिपोर्ट दर्ज की गई।


जिसके तुरन्त बाद अनशन स्थल पर एसडीपीओ अरुण कुमार, सर्किल इंस्पेक्टर राजेश कुमार, बेनीपट्टी एचएचओ अरविंद कुमार, केस के आईओ मृत्युंजय कुमार सहित पुलिस बल मौके पर पहुंची। जहां एसडीपीओ अरुण कुमार ने करीब एक घन्टे तक अनशनकारी व अनशनस्थल ओर मौजूद लोगों से बात की, अब तक की प्रशासनिक जांच से अवगत कराया। लेकिन परिजन व  आम लोग इससे संतुष्ट नजर नहीं आये, सभी ने एसडीपीओ अरुण कुमार से अविनाश हत्याकांड मामले में त्वरित कार्रवाई कर इसमें संलिप्त तमाम लोगों को गिरफ्तार कर मामले का उद्भेदन करने की मांग रखी। इधर अविनाश को न्याय दिलाने के लिए शुरू हुए दो दिवसीय धरना के बाद अनशन के समर्थन में लोगों की उपस्थिति लगातार बनी हुई है।


मौके पर योगीनाथ मिश्रा, विजय झा, दीपकान्त पाठक, रंजीत झा, हैप्पी मिश्रा, राजीव यादव, कामिनी मिश्रा, प्रदीप महथा, बालाजी मिश्रा, अनिल कुमार दास, पशुपति राम, महादेव मुखिया, अशोक यादव, पीताम्बर मुखिया, मिन्टन चंचल, इंदर मुखिया, शंकर राम, सुमित ठाकुर, प्रताप झा, यशवंत मिश्रा, अतुल कृष्ण, गौतम झा, संतोष झा, कृष्णा विकिस, राम सतीश यादव पहुंचे।


आप भी अपने गांव की समस्या घटना से जुड़ी खबरें हमें 8677954500 पर भेज सकते हैं... BNN न्यूज़ के व्हाट्स एप्प ग्रुप Join करें - Click Here





Previous Post Next Post