बेनीपट्टी(मधुबनी)। बेनीपट्टी के पत्रकार सह आरटीआई एक्टिविस्ट अविनाश हत्याकांड के दोषियों की गिरफ्तारी नहीं होने से आक्रोशित परिजन अब आंदोलन का रुख करने की घोषणा की है। मृतक पत्रकार के परिजन चार दिसंबर से थाना के समीप यात्री शेड में धरना देंगे। वही, 06 दिसंबर से सर्वदलीय संघर्ष समिति भी अनशन करेगी। मृतक पत्रकार के परिजनों का स्प्ष्ट कहना है कि बेनीपट्टी पुलिस के कार्यशैली से उनलोगों को इंसाफ नहीं मिलेगा। घटना के करीब-करीब एक महीना होने के बाद भी पुलिस न तो साजिशकर्ता को गिरफ्तार कर सकी है न ही नामजद आरोपितों को गिरफ्तार कर सकी है। ऐसी स्थिति में अब लोकतांत्रिक तरीके से आंदोलन ही रह गया है। मृतक के परिजन बेनीपट्टी के पुलिस पदाधिकारियों के भूमिका पर भी सवाल खड़े करते कहा, की इस तरह की घटना में पुलिस पूरी तरह एक्शन में होती है। लेकिन, उनके केस में पुलिस पूरी तरह से निष्क्रिय है। मृतक के भाई त्रिलोक झा ने बताया कि आखिर, अब तक पुलिस ये भी नहीं बता पा रही है कि अविनाश की हत्या किसने की, क्यों की और उसका मोबाइल कहाँ है। श्री झा ने कहा कि इस पुलिस पर अब भरोसा उठ गया है। 

बता दे कि बेनीपट्टी के अविनाश झा उर्फ बुद्धिनाथ का अपहरण 09 नवंबर को बेनीपट्टी बाजार से कर लिया गया। जहां उनका शव उड़ेन चौर में एसएच-52 पथ किनारे अधजला अवस्था मे मिला। परिजनों ने विधि व्यवस्था भंग न हो, इस कारण से चुपके से शव लेकर पोस्टमार्टम करा सिमरिया में अंतिम संस्कार कर दिया। उधर, पुलिस ने इस घटना में संलिप्त अनुराग हेल्थ केयर के नर्स पूर्णकला देवी समेत छह युवकों को गिरफ्तार कर न्यायिक अभिरक्षा में भेज दिया। युवकों को 15 नवंबर को गिरफ्तार किए जाने के बाद पुलिस केस के अन्य दोषियों के गिरफ्तार करने में नाकाम दिखाई दे रही है। परिजन चंद्रशेखर झा ने इस घटना को लेकर 11 फर्जी नर्सिंग होम के चिकित्सक, संचालक व कर्मियों के खिलाफ केस दर्ज कराई थी।


आप भी अपने गांव की समस्या घटना से जुड़ी खबरें हमें 8677954500 पर भेज सकते हैं... BNN न्यूज़ के व्हाट्स एप्प ग्रुप Join करें - Click Here





Previous Post Next Post