मधुबनी जिले के बेनीपट्टी का युवा आरटीआई एक्टिविस्ट पत्रकार अविनाश झा के जला कर हत्या किए जाने से क्षेत्र के लोगों में आक्रोश स्पष्ट रूप से दिखाई दे रहा है। विभिन्न राजनीतिक दलों के नेता व आम लोग पूरे मामले की निष्पक्ष जांच कर दोषियों के खिलाफ स्पीडी ट्रायल चला कर सजा दिलाने के लिए मुखर हो रहे है। घटना के बाद अब आम लोग भी फर्जी नर्सिंग होम के रैकेट को ध्वस्त करने की मांग कर रहे है। लोगों का कहना है कि अगर लोक शिकायत कानून का सही से पालन कराते हुए जुर्माने के साथ धरातल पर वैसे चिन्हित नर्सिंग होम को सील कर दिया जाता तो, संभवतः अविनाश की हत्या नहीं होती।

उधर, कांग्रेस पार्टी के कद्दावर नेता सह पूर्व केंद्रीय मंत्री डॉ शकील अहमद ने घटना पर दुख व्यक्त करते हुए कहा कि, बेनीपट्टी की घटना काफी दुखद है। शासन प्रशासन को यथाशीघ्र दोषियों की गिरफ्तारी कर पीड़ित परिवार को इंसाफ दिलाना चाहिए। वही पूर्व एमएलए सह प्रदेश प्रवक्ता भावना झा ने दुख व्यक्त करते हुए कहा कि वे आज सीएम से मिलकर पूरी घटना की जानकारी साझा करेंगी। उन्होंने बताया कि प्रशासन व सरकार का इकबाल खत्म हो चुका है। 

वही सीपीआई के अंचल मंत्री आनंद झा, कांग्रेस नेता अभिषेक झा ने प्रशासन से अविलंब दोषियों की गिरफ्तारी की मांग की है। बताया कि अगर जल्द गिरफ्तारी नहीं होगी तो बहुत बड़ा आंदोलन किया जाएगा। उधर, एमएसयू के जिलाध्यक्ष टुन्ना जी ने बताया कि अविनाश एमएसयू का कर्मठ कार्यकर्ता रहा है। उसकी हत्या बर्बर तरीके से हुई है। उसके संगठन के संख्या बल को प्रशासन कमतर न आंके। तत्काल दोषियों की गिरफ्तारी करे।

बता दे कि आरटीआई एक्टिविस्ट BNN के लिए पत्रकारिता कर रहे है अविनाश झा उर्फ बुद्धिनाथ की हत्या अपराधियो ने जला कर शव को फेक दिया। उसका 09 नवंबर के रात करीब दस बजे से कोई सुराग नहीं लगा। परिजनों ने थाना में दिए गए लिखित आवेदन में भी स्पष्ट रूप से घटना में फर्जी नर्सिंग होम के संचालक व डॉक्टर-कर्मी पर आशंका व्यक्त की। जिसके आलोक में एफआईआर भी दर्ज की गई है।


आप भी अपने गांव की समस्या घटना से जुड़ी खबरें हमें 8677954500 पर भेज सकते हैं... BNN न्यूज़ के व्हाट्स एप्प ग्रुप Join करें - Click Here





Previous Post Next Post