पुलिस को गुमराह करने के लिए झूठे अपहरण व हत्या का फैलाया भ्रम - BNN News

Breaking

4 Sep 2018

पुलिस को गुमराह करने के लिए झूठे अपहरण व हत्या का फैलाया भ्रम

बेनीपट्टी(मधुबनी)। जमीनी विवाद में पुलिस को गुमराह करने एवं आरोपी पर दवाब दिए जाने को लेकर पत्नी ने साजिश रची। पुलिस महिला के आरोप के बाद सकते में आ गयी। हालांकि, पुलिस के खोजबीन का दायरा बढ़ा तो कथित अपहृत पति भोगी यादव स्वयं गांव पहुंच गया। भोगी यादव के गांव पहुंचते ही पुलिस ने पूरे मामले का पटाक्षेप कर दिया है। मामला साहरघाट थाना डुमरा गांव का है। मिली जानकारी के अनुसार डुमरा के भोगी यादव एवं गुलाब यादव के बीच वर्षो से रास्ते की जमीन की विवाद चल रही थी। पंचायत के मुखिया व सरपंच ने मामले को सुलह कराने के लिए पंचायती की तो भोगी यादव को नागवार गुजरी। इसी बीच 29 अगस्त को दोनों पक्षों के बीच मारपीट हो गयी। मारपीट में घायल दूसरे पक्ष के लोग इलाज के लिए मधवापुर पीएचसी गए। वहीं केस दर्ज कराने की भी बात सामने आ रही थी। एसडीपीओ पुष्कर कुमार ने बताया कि इसी दरम्यान निर्मला देवी का पति भोगी यादव गायब हो गया। उसके गायब होते ही वादिनी निर्मला देवी पुलिस को गुमराह करने के लिए लगातार झूठा भ्रम फैलाने का प्रयास करती रही। एसडीपीओ ने बताया कि महिला कभी अपहरण तो कभी हत्या की बात कहती रही, एक बार तो समदा में पति का शव होने की भी जानकारी दी। वहीं एसडीपीओ ने बताया कि जांच अभी भी की जा रही है। एसडीपीओ ने बताया कि जमीनी विवाद की जानकारी पुलिस को थी, लेकिन महिला के द्वारा इस तरह की साजिश रची गयी कि पुलिस गुमराह होने लगी। उधर, एसडीपीओ ने बताया कि इस मामले को लेकर महिला निर्मला देवी ने गुलाब यादव, लालबाबू यादव, श्याम यादव, रौशन यादव, रामअनेक यादव, लक्ष्मी यादव व रामहृदय यादव के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई थी। वहीं दूसरे पक्ष के सिकिलया देवी ने भी प्राथमिकी दर्ज कराई थी। एसडीपीओ ने बताया कि महिला के द्वारा जिस पर अपहरण व हत्या किए जाने का आरोप लगा रही थी। पुलिस उसे एहतियातन हिरासत में लेकर पूछताछ कर चुकी है। मौके पर पुलिस निरीक्षक प्रवीण मिश्रा, बेनीपट्टी एसएचओ सह पुलिस निरीक्षक हरेराम साह, साहरघाट के प्रभारी एसएचओ रविन्द्र कुमार सिंह समेत कई पुलिस बल मौजूद थी।

No comments:

Post a Comment

फेसबुक पर रेगुलर न्यूज़ अपडेट्स पाने के लिए पेज Like करें व अधिक से अधिक शेयर करें