बारिश की बूंद देखते ही घर भाग जाते है स्कूली छात्र - BNN News

Breaking

6 Aug 2018

बारिश की बूंद देखते ही घर भाग जाते है स्कूली छात्र

बेनीपट्टी (मधुबनी)। प्रखंड के विद्यालयों की स्थिति में व्यापक सुधार नहीं होने के कारण छात्रों के शैक्षणिक स्तर में लगातार गिरावट आ रही है। बेनीपट्टी के नवकरही पंचायत के हिब्बा गांव में संचालित प्राथमिक विद्यालय का हाल इतना खराब है कि आसमान में काले बादल उमड़ते ही स्कूली छात्र घर की दौड़ लगा देते है। बारिश में भींगने से अधिक छात्रों को किताब-कॉपी को बचाने की जद्दोजहद करनी पड़ रही है। बावजूद शिक्षा विभाग स्कूल के छत की ढलाई के लिए पहल नहीं कर रही है। जिसका खामियाज स्कूली छात्रों के साथ एकमात्र शिक्षक को भुगतना पड़ रहा है। बता दें कि हिब्बा के प्राथमिक स्कूल के निर्माण हुए करीब दो वर्ष से अधिक का समय गुजर जाने के बाद भी पैसे के अभाव में स्कूल का छत की ढलाई नहीं हो पायी। इस मध्य में तत्कालिन एचएम अवकाश प्राप्त होकर दूसरे शिक्षक को प्रभार भी दे दिया।  मिली जानकारी के अनुसार पूर्व प्रभारी के द्वारा स्कूल के भवन निर्माण के लिए विभाग से आंवटित राशि को मनमाने ढंग से खर्च करने के कारण स्कूल के छत का निर्माण नहीं हो पाया। जबकि स्कूल के खाते में ढलाई योग्य राशि मौजूद थी। बावजूद तत्कालीन विद्यालय प्रभारी ने ढलाई का कार्य नहीं कराया। बता दें कि उक्त विद्यालय में फिलहाल करीब एक सौ के करीब छात्र अध्यनरत है। विद्यालय प्रभारी रामप्रकाश यादव ने बताया कि उन्हें एक माह पूर्व ही विद्यालय का प्रभार दिया गया है। बैंक खाते जांच करने के बाद ही राशि के संबंध में जानकारी दी जा सकती है। वहीं ग्रामीण रामप्रसाद राय, ललन राय, दिनेश राय, श्रीकांत राय, धनेश्वर राय, राजेश्वर राय, घुरन राय, कैलाश राय, अवध राय, रामसागर राय, राजदेव राय सहित कई ग्रामीणों ने बताया कि गांव में शिक्षा व्यवस्था सुचारु होने के लिए वर्ष 1989 में ग्रामीण राजेन्द्र राय ने स्कूल के लिए करीब ढाई कठ्ठा जमीन दान दिया। भूमि दान देने के बाद भी विभागीय लापरवाही के कारण स्कूल के भवन का निर्माण नहीं हो रहा है। वहीं ग्रामीणों ने बताया कि स्कूल में पूर्व के प्रभारी के कार्यकाल में जमकर अनियमितता की गयी है। स्कूल के शौचालय के निर्माण में भी भारी लूटखसोट की गयी है। जिसकी जांच होनी चाहिए। गौरतलब है कि उक्त प्राथमिक विद्यालय के चार कमरों का दिवाल निर्माण कर छत की ढलाई नहीं की गयी है। जिसके कारण बच्चें खुल आसमान के नीचे पढ़ाई करने को विवश है। बारिश एवं पाला गिरने पर बच्चों को छुट्टी दे दी जाती है। इस संबंध में प्रभारी प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी मीना कुमारी ने बताया कि उक्त स्कूल के संबंध में जानकारी ली जा रही है। छत की ढलाई किस वजह से नहीं हुई, इसकी जानकारी लेकर निर्माण के लिए पहल की जाएगी।

No comments:

Post a Comment

फेसबुक पर रेगुलर न्यूज़ अपडेट्स पाने के लिए पेज Like करें व अधिक से अधिक शेयर करें