लदौत प्राथमिक विद्यालय की शिक्षिका तीन माह से अनुपस्थित - BNN News

Breaking

28 Jul 2018

लदौत प्राथमिक विद्यालय की शिक्षिका तीन माह से अनुपस्थित

बेनीपट्टी(मधुबनी)। बेनीपट्टी में शिक्षा-व्यवस्था बेपटरी नजर आ रही है। स्कूल के एचएम व विभागीय अधिकारी के मिलीभगत से विभाग के तमाम योजनाओं में अनियमितता की जा रही है। वहीं शिक्षिका के लगातार गायब होने के बावजूद कार्रवाई नहीं होने में विभागीय सांठ-गांठ धरातल पर स्पष्ट नजर आ रहा है। प्रखंड के महमदपुर पंचायत के लदौत गांव में संचालित प्राथमिक विद्यालय की शैक्षणिक स्तर पूरी तरह से चौपट हो गयी है। स्थिति का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि एक शिक्षिका लगातार तीन महीनों से अनुपस्थित है, बावजूद कार्रवाई तो दूर अधिकारी शिक्षिका के अनुपस्थिति को लगातार अनदेखी कर रहे है। बता दें कि गत दो वर्ष पूर्व भी इस शिक्षिका की अनुपस्थिति करीब आठ महीनों से थी। जिसका खुलासा स्वयं पूर्व बीडीओ के निरीक्षण के दौरान हुआ था। उक्त समय भी कार्रवाई किए जाने की बात बीडीओ ने कही थी। लेकिन, सूत्रों की माने तो बीडीओ के निरीक्षण के बाद शिक्षिका के समर्थन में शिक्षा माफियाओं ने बीडीओ को कार्रवाई न करने के लिए मजबूर कर दिया। जिसका परिणाम हुआ कि शिक्षिका अपने गायब होने की कार्यशैली का बदल नहीं पायी। उधर, गुरुवार को स्कूल का जायजा लिया गया तो स्कूल के एचएम स्वयं भी गायब थे। वहीं स्कूल में नामांकित करीब 330 छात्रों में महज पचास छात्रों की उपस्थिति ही धरातल पर दिखाई दी। वहीं बताया गया कि स्कूल के प्रभारी ने अधिक छात्रों की उपस्थिति बना कर बेनीपट्टी मुख्यालय चले गए है। उधर, छात्रों ने स्कूल के एचएम पर एमडीएम के बाद न तो फल देने न ही अंडा देने की बात कही। छात्रों ने बताया कि अंडा व फल देने के प्रावधान किए जाने के करीब दो-तीन सप्ताह दिए गए, लेकिन उसके बाद अचानक बंद कर दिया गया। वहीं स्कूल में उपस्थित एक भी छात्र स्कूल के पोशाक में नजर नहीं आए। छात्रों के लिए पकाए गए एमडीएम में विभाग के नियम के खिलाफ चावल-दाल के साथ आलू का चोखा पकाया गया था। रसोईयों ने बताया कि हमलोगों को जो भी पकाने के लिए एचएम देते है, वही पकाते है। गौरतलब है कि लदौत में एक शिक्षिका के गायब रहने के बाद भी प्रभारी समेत छह शिक्षक उपस्थित होते है, लेकिन स्कूल के शैक्षणिक स्तर शिक्षकों के मेहनत की पोल खोलता दिखाई दे रहा है। इस संबंध में स्कूल के प्रभारी एचएम अब्दुल गफ्फार ने बताया कि राशि के अभाव में एमडीएम में आलू का चोखा पकाया गया था। वहीं प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी मीना कुमारी ने बताया कि वे फिलहाल बैठक में है। अनुपस्थित शिक्षिका के संबंध में जानकारी ली जा रही है।

No comments:

Post a Comment

फेसबुक पर रेगुलर न्यूज़ अपडेट्स पाने के लिए पेज Like करें व अधिक से अधिक शेयर करें