नदियों के लबालब होने से बाढ़ की संभावना तेज, दहशत में लोग - BNN News

Breaking

7 Jul 2018

नदियों के लबालब होने से बाढ़ की संभावना तेज, दहशत में लोग

बेनीपट्टी(मधुबनी)। नेपाल के तराई इलाको में भारी बारिश होने से अधवारा समूह की सभी सहायक नदियों का जलस्तर अप्रत्याशित रूप से बढ़ गयी है। धौंस व खिरोई नदी लबालब की स्थिति में आ गयी है। वही बछराजा नदी का जलस्तर अधिक हो जाने के कारण जल बाहरी इलाको में फैल रहा है। नदियों के जलस्तर में लगातार वृद्धि होने से बाढ़ की संभावना तेज हो गयी है। लोग बाँध की दयनीय स्थिति को देख सहमे हुए है। लोग अभी से ही दैनिक वस्तुओं का संग्रह करने में जुटे हुए है।बाढ़ग्रस्त पंचायत के लोग अभी से ही माचिस, खाद्यान्न, टॉर्च समेत आवश्यक दवा की व्यवस्था में जुट गए है। लोगों की माने तो बांध के मरम्मत के नाम पर भारी लूटखसोट की गई है। बांध पर बालू बिछा दी गयी है। जिसके कारण बाढ़ अधिक प्रलय मचाएगी। उधर, जलस्तर में लगातार हो रही वृद्धि की सूचना पर एसडीएम मुकेश रंजन, बीडीओ मनोज कुमार व सीओ पुरेन्द्र कुमार सिंह ने प्रखंड के पश्चिमी भूभाग के बांधो पर हो रहे कटावरोधी कार्य व ग्रामीण इलाकों का जायजा लिया। एसडीएम ने सोईली पूल के लचका का निरीक्षण कर हो रहे कटाव पर चिंता प्रकट करते हुए ग्रामीण कार्य विभाग के कार्यपालक अभियंता को मोबाईल पर स्थिति से अवगत कराते हुए तत्काल कटाव को रोकने के लिए तैयारी करने का निर्देश देते हुए खिरोई के दोनों तटबंध का जायजा लेकर जल संसाधन विभाग के जेई सुनील कुमार से जलस्तर के संबंध में विस्तृत जानकारी लेकर कर्मियों को मुस्तैद करने का निर्देश दिया। इस दौरान जेई ने एसडीएम से कटावरोधी हो रहे कार्यों की जानकारी देकर बताया कि हर हाल में तटबंध की रक्षा की जाएगी। इसके लिए बांध पर अधिकारियों को प्रतिनियुक्त कर दिया गया है। उपरांत एसडीएम ने माधोपुर, बर्री, विशनपुर, अग्रोपट्टी समेत कई गांव का जायजा लेकर सीओ से सभी राजस्व गांव में उंचे शरण स्थली को चिन्ह्ति करने का निर्देश दिया। वहीं बीडीओ को जल संसाधन विभाग के अधिकारियों के साथ समनव्य बना कर रखने का निर्देश देते हुए कहा कि रोजाना जलस्तर के संबंध में रिपोर्ट करते रहे। ताकि, राहत-बचाव कार्य को अंजाम देने में देरी न हो। एसडीएम ने बताया कि नेपाल में अभी बारिश नहीं होने की जानकारी मिली है। अनुमंडल प्रशासन पूरी तरह से मुस्तैद है। गत बाढ़ में हुए राहत बचाव कार्य का अनुभव है।

No comments:

Post a Comment

फेसबुक पर रेगुलर न्यूज़ अपडेट्स पाने के लिए पेज Like करें व अधिक से अधिक शेयर करें