फर्जी निकासी के मामले की बीडीओ ने की जांच शुरु - BNN News

Breaking

10 Feb 2018

फर्जी निकासी के मामले की बीडीओ ने की जांच शुरु

बेनीपट्टी (मधुबनी)। बेनीपट्टी पंचायत के सात निश्चय योजना की राशि 79 लाख 88 रुपये के कथित फर्जी तरीके से की गयी निकासी के मामले की जांच प्रारंभ कर दी गयी है। जिलाधिकारी शीर्षत कपिल अशोक ने मामले को गंभीरता से लेते हुए बीडीओ को पूरे मामले की जांच कर रिपोर्ट देने का निर्देश दिया है। वहीं अनुमंडल पदाधिकारी मुकेश रंजन ने निकासी के मामले में बैंक प्रबंधक, पंचायत सचिव व मुखिया को स्पष्टीकरण पूछा है। उधर, जिलाधिकारी के निर्देश पर बीडीओ डा. अभय कुमार व एसएचओ सह पुलिस निरीक्षक हरेराम साह ने बेनीपट्टी के स्टेट बैंक पहुंच कर मामले की छानबीन शुरु कर दी है। जांच के दौरान बैंक के कर्मियों ने चेक पर किए गये हस्ताक्षर को फर्जी मानने से इंकार कर दिया। बैंक कर्मियों की माने तो उक्त चेक पर मुखिया व पंचायत सचिव का हस्ताक्षर किया गया है। बीडीओ ने प्रभारी बैंक अधिकारी से तत्काल हस्ताक्षर के नमूने लेकर जांच की प्रक्रिया को शुरु कर दिया है। वहीं बीडीओ ने उक्त चेक को जब्त कर बैंक से खाता की पूरी जानकारी मांगी है। उधर सूत्रों की माने तो उक्त योजना की राशि 28 सितंबर से ही निकासी की जा रही थी। सूत्रों की माने तो राशि निकासी के मामले में कई ऐसे रहस्य है, जिसकी पूर्ण जांच हो तो कई अफसर लपेटे में आ सकते है। अमूमन अधिक राशि का चेक देने पर बैंक कर्मी अथवा प्रबंधक चेकधारी को स्वयं आने की बात कह सामान्य व्यक्ति को टाल देता है, लेकिन इस फर्जीवाड़े में अधिक राशि की निकासी होती रही, ओर बैंक न तो मुखिया को हाजिर होने अथवा पंचायत सचिव के उपस्थिति में निकासी की बात की। जो पूर्णरुप से संदेहास्पद प्रतित हो रहा है। बैंक से निकासी का संदेश मोबाईल में उपलब्ध होने के बाद भी आखिर, क्यूं पंचायत सचिव के मोबाईल पर निकासी संबंधी संदेश नहीं पहुंच सका। वहीं इस फर्जीवाड़ा में बेनीपट्टी पंचायत के सचिव शिवनारायण यादव की भूमिका भी संदिग्ध नजर आ रही है। आखिर, पंचायत सचिव के पास रहने वाला योजना का चेक उस शातिर रामबाबू यादव के हाथ कैसे लगी? वहीं चेक के माध्यम से निकासी सितंबर माह से होने के बाद भी पंचायत सचिव इतना बेखबर कैसे रह गया। उधर बैंक कर्मियों की माने तो हस्ताक्षर मुखिया एवं पंचायत सचिव के द्वारा ही की गयी है। वहीं पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार मामले में कबूल नहीं करने पर हस्ताक्षर को एफएसएल भेज कर रिपोर्ट मांगी जाएगी। बीडीओ डा. अभय कुमार ने बताया कि मामले की जांच शुरु कर दी गयी है। बैंक से निकासी संबंधित जानकारी ली जा रही है। पूरे मामले की ठोस जांच कर कार्रवाई की जाएगी। वहीं एसडीएम मुकेश रंजन ने बताया कि मामले पर बैंक प्रबंधक, मुखिया व सचिव से स्पष्टीकरण कर बीडीओ से 24 घंटा के अंदर पूरी रिपोर्ट तलब की गयी है। रिपोर्ट आने के बाद कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

No comments:

Post a Comment

फेसबुक पर रेगुलर न्यूज़ अपडेट्स पाने के लिए पेज Like करें व अधिक से अधिक शेयर करें